गाड़ियों की नंबर प्लेट के रंगों का क्या अर्थ होता है?

Vehicle number plates in India

सड़क पर आते जाते वाहनों को देखना आम बात है। इतना आम की एक आम इंसान कभी ध्यान भी ना दें। लेकिन इस आम बात में भी कुछ खासियत है। क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि वाहनों की नंबर प्लेट अलग-अलग रंगों में आती है। किसी गाड़ी की नंबर प्लेट सफेद रंग की होती है, तो किसी की पीले रंग की। कभी-कभी किसी नीले रंग की नंबर प्लेट को देखकर आपके मन में  भी आया होगा कि आखिर इन सब रंगों का क्या मतलब है?


क्यों होते हैं नंबर प्लेट के अलग-अलग रंग?

सड़क पर चलने वाले वाहन अलग-अलग वर्गों से संबंध रखते हैं। अलग-अलग प्राधिकारी, अलग-अलग देशों के राजनियकों आदि की गाड़ियों के नंबर प्लेट में अलग-अलग रंग होते हैं। देश के प्रथम नागरिक या किसी राज्य के राज्यपाल की गाड़ी का रंग भी अनन्य होता है।

आइए देखते हैं अलग-अलग रंग की नंबर प्लेट का अर्थ!

1. पीली प्लेट पर काले नंबर:
वाणिज्यिक वाहन जैसे टैक्सी, ऑटो या ट्रक में येलो प्लेट पर ब्लैक नंबर लिखा होता है। उनके ड्राइवर के पास कमर्शियल ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है।

2. सफेद प्लेट पर काले नंबर:
सफेद प्लेट पर काले नंबर निजी वाहन के लिए रजिस्टर है जो आप लोग चलाते हैं। ऐसे विकल्प का वाणिज्यिक उपयोग वर्जित है।

3. लाल प्लेट पर सफेद नंबर:

लाल प्लेट पर सफेद रंग से लिखा नंबर टेस्ट व्हीकल्स के लिए होता है। मैन्युफैक्चरर नई गाड़ी का प्रचार करने या परीक्षण करने के लिए इस रंग का इस्तेमाल करते हैं।

4. काली प्लेट पर पीले नंबर:
जिन गाड़ियों में काली प्लेट पर पीले नंबर होते हैं वह गाड़ियां कमर्शियल टैक्सी होती हैं, जो सेल्फ ड्राइविंग के लिए दी जाती हैं। इन्हें ड्राइव करने के लिए कमर्शियल ड्राइविंग परमिट की आवश्यकता नहीं होती।

5.  काली प्लेट पर सफेद नंबर:
इसका मतलब या एक मिलिट्री व्हीकल है, इसकी शुरुआत में एक एरो होता है। ये केवल रक्षा मंत्रालय  तथा सैन्य ऑफिशियल के लिए ही रजिस्टर होती हैं।

6. इसी कड़ी में एक और प्रकार की नंबर प्लेट जुड़ी है। हरी नंबर प्लेट। यह विद्युत ऊर्जा से चलने वाली गाड़ियों को दी जाती है तथा इनके निजी या वाणिज्यिक उपयोग के हिसाब से  सफेद पीले रंग से नंबर लिखे होते हैं।

7. इसी तरह राष्ट्रपति, राज्यपाल बिना लाइसेंस प्लेट की ऑफिशियल गाड़ियों का इस्तेमाल करते हैं। इन गाड़ियों में रेड प्लेट पर स्वर्णिम कलर में भारत का प्रतीक बना होता है।

Number plate in India
भारत में नम्बर प्लेट के उदाहरण

8. नीली नंबर प्लेट:
विदेशी दूतावासों की गाड़ी पर नीली प्लेट के साथ  सफेद नंबर होता है। इन प्लेट्स पर CC, CD या UN जैसे शब्द लिखे रहते हैं। जिनका मतलब कॉन्सुलर कॉर्प्स ,डिप्लोमेटिक कॉर्प्स, यूनाइटेड नेशन है।

यह तो हो गई नंबर प्लेट की बात। लेकिन कभी-कभी आप किसी वाहन पर एएफ(A/F) लिखा हुआ पाओगे। इसका मतलब होता है अप्लाइड फॉर। यह उन वाहनों पर लिखा होता है जो अभी-अभी शोरूम से निकले हैं और उनके रजिस्ट्रेशन का कार्य पूरा नहीं हुआ। रजिस्ट्रेशन संपूर्ण होते ही उन्हें गाड़ी की कैटेगरी के हिसाब से नंबर पर लग जाती हैं।

इसी तरह टेंपरेरी रजिस्ट्रेशन वाली गाड़ियों में नंबर के मध्य में टीआर(T/R) लिखा होता है जिसका मतलब टेंपरेरी रजिस्ट्रेशन होता है।

You May Like:-

स्वतंत्रता संग्राम में धार्मिक एकता के लिए रक्षाबंधन का इस्तेमाल!

Mirabai Chanu (Oplymic Medalist) Wiki, Age : Unknown Facts

About Shagun Mahajan

traveller, interested in sports & Indian politics

View all posts by Shagun Mahajan

Leave a Reply